भाई-बहन हैं दूर तो इन मैसेजेस से दें रक्षाबंधन की बधाई

भाई-बहन हैं दूर तो इन मैसेजेस से दें रक्षाबंधन की बधाई

रक्षा बंधन पर चंद्र ग्रहण: जरूर कीजिए चावल दान LIVE UPDATES

आज रक्षाबंधन के दिन चंद्र ग्रहण भी है: जानें राखी बांधने का शुभ मुहूर्त

इस साल रक्षाबंधन के दिन भद्राकाल के साथ ही चंद्रग्रहण का साया भी है. सुबह 11:06 बजे से दोपहर 01:42 बजे तक ही राखी बांध दें, दोपहर 1:42 बजे के बाद सूतक लग जाएगा क्योंकि आज चंद्रग्रहण है.india

नई दिल्ली। आज भाई-बहन का त्योहार राखी पूरे देश में धूम-धाम से मनाया जा रहा है लेकिन आज ही साल का दूसरा चंद्रग्रहण भी लग रहा है जिसके कारण भारत के लोग काफी कन्फ्यूज है कि वो राखी किस वक्त बांधे क्योंकि ग्रहण काल शुभ काम के लिए अच्छा नहीं माना जाता है। Raksha Bandhaan 2017: केवल भाईयों को ही नहीं भाभियों को भी बांधिए राखी क्योंकि…

Live Updates पंडित दिवाकर शास्त्री के मुताबिक आज राखी भी है और सावन का अंतिम सोमवार भी है इसलिए आज चावल दान कीजिए, इससे घर में सुख-शांति का वास होगा और दरिद्रता का विनाश होगा। पंडितों के मुताबिक दोपहर 1.52 मिनट तक ही राखी बांधी जा सकती है, इसलिए जल्दी कीजिए। भविष्‍य पुराण में वर्णन: राखी के बारे में भविष्य पुराण में वर्णन मिलता है कि देव और दानवों में जब युद्ध शुरू हुआ, तब भगवान इंद्र घबराकर बृहस्पति के पास गए, वहां बैठी इन्द्र की पत्नी इंद्राणी सब सुन रही थी,उन्होंने रेशम का धागा मंत्रों की शक्ति से पवित्र करके अपने पति के हाथ पर बांध दिया, संयोग से वह श्रावण पूर्णिमा का दिन था। मिलिए भारतीय राजनीति के दिग्गज भाई-बहनों की जोड़ी से आज अगर राखी और चंद्रग्रहण है तो आज सावन का आखिरी सोमवार भी है, इस दिन बहनें अगर शिव के साथ चांद की पूजा करें तो इससे उनके भाईयों की उम्र भी बढ़ेगी।

Related  'Trump Village' Unveiled In India Ahead Of PM Narendra Modi's US Visit

ज्योतिष व तंत्र शास्त्र के अनुसार, ग्रहण में किए गए उपाय बहुत ही जल्दी शुभ फल प्रदान करते हैं। ग्रहण काल से पहले नहाकर साफ कपड़े पहन लें।  ग्रहण प्रारंभ होते ही पूर्व दिशा की ओर मुख करके अपने ईष्टदेव को याद कीजिए। प्रमोशन या भाग्योदय के लिए ग्रहण काल के दौरान शिव और कान्हा जी की पूजा कीजिए। रक्षाबंधन पर लग रहा है चूड़ामणि चंद्रग्रहण इसलिए कीजिए ये खास काम कुंवारों के लिए अच्छा नहीं होता ऐसा माना जाता है कि चंद्रग्रहण कुंवारों के लिए अच्छा नहीं होता है क्योंकि सुंदरता का प्रतीक चंद्रमा तो श्रापित है। कुंवारे भाई हो जाए सावधान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी ने देशवासियों को रक्षाबंधन की बधाई दी। इस रक्षाबंधन मिलिए PM मोदी की पाकिस्‍तानी बहन से जिसे शायद ही जानते हों आप पंडित दिवाकर शास्त्री के मुताबिक करीब 12 साल बाद ऐसा संयोग बना है जब राखी के दिन ग्रहण लग रहा है। इसलिए इस बार राखी के दिन सूतक भी लगेगा। रक्षाबंधन 2017: इस बार है चंद्रग्रहण, जानिए राखी बांधने का सही मुहूर्त एवं समय चंद्रग्रहण रात 10.53 बजे से शुरू होगा।   ज्योतिषाचार्य का कहना है कि चंद्रग्रहण से 9 घंटे पहले यानी दोपहर 1.53 बजे से सूतक लग जाएगा।  सुबह 11.04 बजे तक भद्रा काल का असर रहेगा।   Must Read: राखी या रक्षाबंधन के बारे में जानिए कुछ खास बातें चूंकि सूतक और भद्रा दोनों में ही शुभ कार्य वर्जित हैं, इसलिए इन दोनों के बीच का समय राखी बांधने के लिए शुभ है।   सुबह 11.05 बजे से लेकर 1.52 मिनट तक आप रक्षा बंधन का त्योहार मना सकते है। देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें

Related  Latest Higher Secondary First Year Plus One Result March 2017
Do you like this post?
  • Fascinated
  • Happy
  • Sad
  • Angry
  • Bored
  • Afraid

Add Comment